हनुमान वशीकरण मंत्र

tantrik   October 25, 2016   Comments Off on हनुमान वशीकरण मंत्र

हनुमान वशीकरण मंत्र

जो कोई भी साधक हनुमान वशीकरण मंत्र साधना एवं सिद्धि का प्रयोग करता है वो कोई भी कार्य को बहुत जल्दी ही पूर्ण कर सकता है| बजरंगबली और महाबली के नामों से पुकारे जाने वाले पवनपुत्र रूद्रावतार हनुमान में अपार शक्तियां और चमत्कारी क्षमताएं निहित हैं। उनके प्रति लोगों का यही विश्वास और भक्ति आस्थावान बनाता है, तो  उनके मंत्रों के जाप से अद्भुत ऊर्जा का एहसास होता है। वे न केबल खुद को काफी सबल महसूस करते हैं, बल्कि जीवन में हर मोड़ पर सफलता की सीढ़ियां आसानी से चढ़ लेते हैं और राह में आने वाली तमाम बाधाओं को भी दूर कर लेते हैं। और तो और, संकट या मुसीबत की घड़ी में इनके मंत्र काफी अचूक असर वाले होते हैं। ज्योतिषीय उपायों में भी हनुमान के मंत्रों के जाप से शनि की नुकसानदायक दशा को ठीक किया जा सकता है।

हनुमान वशीकरण मंत्र

हनुमान वशीकरण मंत्र

वशीकरण या कहें सम्मोहन, या आकर्षण के लिए धर्म ग्रथों में कई हनुमान मंत्र दिए गए हैं, जिनमें वैदिक और शाबर मंत्र हैं। इन मंत्रों की साधना, सिद्धि और प्रयोग फलदायी साबित होते हैं। धार्मिक मान्यता के अनुसार भगवान श्रीहनुमान को सरल पूजन-विधि से प्रसन्न किया जा सकता है। शनिवार की सुबह स्नान कर सच्चे मन से मंदिर में हनुमान की प्रतिमा पर सिंदूर, सुगंध, अक्षत, लाल फूल, चमेली का तेल और नारियल यानि श्रीफल अर्पित करने और धूप जलाने के बाद आसन पर बैठकर निम्नलिखित पांच छोटे मंत्रों का जाप करना चाहिए।

मंत्रः ओम बलसिद्धिकराय नमः

ओम वज्रकायाय नमः

ओम महावीराय नमः

ओम रक्षेविध्वंसकाराय नमः

ओम र्सवरोगाहरा नमः

इन मंत्रों के जाप के बाद हनुमान चालिसा का भी पाठ करना चाहिए। ये मंत्र अगर दुःख दूर करने और समस्त चिंताओं से मुक्त करने वाले हैं, तो इनसे मन में किसी कार्य को करने के प्रति प्रसन्नता और सक्रियता का भी एहसास हाता है तथा घर में सुख-समृद्धि आती है।

हनुमान वशीकरण मंत्र

हनुमान के वशीकरण मंत्रों की साधना से चमत्कारी प्रभाव हासिल किए जा सकते हैं। इन मंत्रों को  विशेषज्ञों के दिशा-निर्देश के अनुसार ही उपयोग में लाया जाता है। साथ ही इनका इस्तेमाल सही और उद्देश्यपूर्ति के लिए निःस्वार्थभाव से किया जाना चाहिए। हनुमान को भगवान शिव के ही एक अवतार हैं और उनको भगवान श्रीराम के दूत के रूप में भी जाना जाता है। उनके वशीकरण मंत्र से किसी को भी वश में किया जा सकता है, क्योंकि इसे दिव्य और सर्वाधिक शक्तिशाली मंत्र कहा गया है। वशीकरण के लिए एक उपयोगी मंत्र इस प्रकार हैः-

ऊँ नमो पंचवदनाय हनुमंते ऊध्र्वमुखाय ह्यग्रीवय रुं रुं रुं रुं रुं रुद्रमूर्तये सकललोक वशकराय वेदविद्या-स्वरुपिणे ऊँ नमः स्वाहा!!

स्त्री वशीकरणः कुछ मंत्र हनुमान शाबर मंत्र के रूप में प्रचलित है, जो बोलचाल की भाषा में लिखे गए हैं। उन्हें गुरु गोरखनाथ और नवनाथ ने गहन सिद्धियों के बाद सामान्य लोगों के सहज इस्तेमाल के लिए वर्णित किया है।  पर पुरुष के आकर्षण में बंधी या नाराज चल रही पत्नी या प्रेमिका को अपने प्रेम के वश में करने के लिए नीचे दिए गए शाबर मंत्र का शुभ योग में 1008 बार जाप किया जाना चाहिए। इसका तुरंत व अद्भुत लाभ मिलता है।

मंत्रः ऐ भग भगे भगनि भगोदरि भगमाले योनि भोगनि पतिन सर्व भग संकरी,

भाग रूपे नित्य क्ले भागस्वरूपे सर्वभगिनी में वश मान्य वर देरते सुरेते।

भगलिकने क्लीं न द्रवे क्लेदय द्रवय अमोघे भग विधेषुभ षोभय सर्व,

सत्वा भगेश्वरी ऐं कलं जं ब्लूं भें ब्लूं मोब्लूं हे हे कीलने सर्वाणि भगानि तस्मै स्वाहा!!

हर किसी का वशीकरणः स्त्री या पुरुष, जिनसे कोई भी संबंध हो, उनका नीचे दिए गए हनुमान मंत्र की सिद्धि और उपाय से वशीकरण किया जा सकता है। इसके लिए शुक्रवार के दिन से शुरू कर काले परिधान मं मंत्र का पांच दिनां तक पांच माला जाप किया जाना चाहिए। इस तरह से की गई मंत्र-साधना के अनुष्ठान के अंतिम दिन हनुमानजी की विधिवत पूजा करनी चाहिए। पूजा मं उपयोग की गई माला को एक गड्ढे में मिट्टी से दबा दिया जाना चाहिए। इसके लिए गमले का भी उपयोग किया जा सकता है।

मंत्रः हनुमान जाग किलकारी, मार तू हुंकारे राम काज संवारे,

ओढ़ सिंदूर सीता मैया, का तू प्रहरी राम द्वारे मैं बुलाऊं।

तू अब आ राम गीत, तू गाता आ नहीं आये तो हनुमाना,

श्रीराम जी और सीता मैया की दुहाई,

शब्द सांचा पिंड कांचा फूरो मंत्र ईश्वरो वाचा।

भयनशक मंत्रः भूत, प्रेम या दूसरे तरह के मन में व्याप्त भय या अनहोनी की आशंका और कामकाज में आई बाधा को दूर करने के लिए एक विशेष तरह के हनुमान मंत्र, जिसे जंजीरा भी कहा गया है, के जाप और प्रयोग से तुरंत लाभ मिलता है। हनुमान जंजीरा नमाक यह मंत्र प्रयोग में बहुत ही आसान और अलौकिक चमत्कारों वाला है। इस मंत्र का लगातार 21 दिनों तक हनुमान मंदिर में जाकर प्रतिदिन एक माला का जाप किया जाता है। अंतिम दिन उसी मंदिर में एक नरियल को लालकपड़े में लपेटकर लाल ध्वज के साथ हनुमान की मूर्ति के सामने पूजन के साथ अर्पित कर दिया जाता है। इससे संबंधित मंत्र हैः-

 

हनुमान भयनशक मंत्र

हनुमान भयनशक मंत्र

निरोगी काया और विवाहः हनुमान के अंञ्जनेय मंत्र का प्रयोग करने से निरोगी काया की प्राप्ति की जा सकती है तो मनोनुकूल विवाह संपन्न होते हैं। इस मंत्र का जाप गुरुवार के दिन हनुमान की तस्वीर या मूर्ति के सामने बैठकर 10,000 बार किया जाता है। उस दौरान काजल और जल को अभिमंत्रित किया  जाता। उनके इस्तेमाल का सकरारत्मक लाभ मिलता है। इनकी मदद से ही आकर्षण यानि सम्मोहन, स्तंभन, विद्वेषण, उच्चाटन, मारण आदि के प्रयोग भी किए जा सकते हैं। वह मंत्र इस प्रकार हैः-

ओम ह्रीं यं ह्रीं राम-दुताय, रिपु-पुरी, दाहनाय अक्ष-कुक्षि-विदारणाय, अपरिमित-बल-परक्रमाय, रावण-गिरि-वज्रायुधाय ह्रीं स्वाहा!!

परीक्षा में सफलताः परीक्षा में सफलता या नौकरी के लिए हनुमान मंदिर में तस्वीर या मूर्ति के आगे एकाग्रता के साथ हनुमान चालिसा का पाठ  करना चाहिए। श्री बजरंग वाण से भी हनुमान का प्रसन्न किया जा सकता है।

विशेषः हनुमान वशीकरण मंत्र का उपयोग धार्मिक अनुष्ठान और जाप एकाग्रता के साथ सच्चे मन से किया जाता है, लेकिन इसके पहले रक्षा कवच के मंत्र ओम श्री हनुमंते नमः को सिद्ध करना आवश्यक है। इसी के साथ पूजन संबंधी कुछ नियम का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए। जैसे पूजन के लिए आसन पर लाल कपड़ा बिछा हो, मांस-मदिरा या नशे का सेवन नहीं किया जाए, जाप के लिए माला रूद्राक्ष या चंदन का हो, तथा साधना की पूर्णहुति नारियल और फूल-प्रसाद से किया जाए।

जो कोई भी साधक हनुमान वशीकरण मंत्र साधना एवं सिद्धि का प्रयोग करता है वो कोई भी कार्य को बहुत जल्दी ही पूर्ण कर सकता है | यदि आप हनुमान शाबर मंत्र का प्रयोग कर अपने करियर को, बिज़नस को , जॉब को , प्यार को पाना चाहते हो और अपने जीवन को सफल बनाना चाहते है तो हमसे संपर्क करे को और उचित मार्ग दर्शन द्वारा कोई भी कार्य सिद्ध करे |