गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके साधना

tantrik   March 24, 2019   Comments Off on गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके साधना

गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके साधना

जाने कैसे किये जाते है गुप्त नवरात्रि के दिनों में तांत्रिक साधना जिससे कोई भी किसी भी कार्य को सफल बना सकता है|
अधिकतर लोग वर्ष में आने वाली चैत्र नवरात्रा और आश्विन या शारदीय, दो ही नवरात्रों के बारे में जानते हैं। लेकिन, बहुत कम लोगों को पता होगा कि इसके अतिरिक्त और भी दो नवरात्रा होती हैं जिन्हें गुप्त नवरात्रा कहा जाता है। इन दिनों देवी मां के विभिन्न स्वरूपों की पूजा अर्चना की जाती है तथा विभिन्न साधनाए भी उन्हें प्रसन्न करने के लिए की जाती है। तंत्र साधना के अनुसार गुप्त नवरात्रा में अपनाए गए प्रयोग विशेष फलदायक होते हैं और उनका फल भी जल्दी ही प्राप्त किया जा सकता है। जैसा कि गुप्त शब्द से ही विदित होता है कि यह नवरात्रा गुप्त होती है, अतः इस समय किए गए सभी उपाय भी गुप्त ही होने चाहिए।

गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके साधना

गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके साधना

गुप्त एंव काली शक्तियों को प्राप्त करने हेतु यह श्रेष्ठ समय है और इस समय के सदुपयोग के लिए आपके लिए पेश है गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके–

१) तंत्र-मंत्र आरम्भ करने के पहले आप एक कलश की स्थापना करे मां देवी का नाम लेते हुए। देवी मां की मूर्ति को सिंदूर चढ़ाएं, धूप दीप करे, लाल फूल अर्पण करे तथा प्रसाद में लवंग व बताशा का भोग लगाए। प्रतिदिन दोनों वक्त सप्तशती का पाठ और आरती करे। इन नौ दिनों सात्विक भोजन रखें और ब्रह्मचर्य का पालन करे।

२) “सब नार करहिं परस्पर, प्रीति चलाहिं स्वधर्म नीरत श्रुति नीति”– इस मंत्र का प्रतिदिन जाप करे १०८ बार और हर बार अग्निकुंड में घी से आहुति दे। यह मंत्र पति-पत्नी के आपसी प्रेम को बढ़ाता है।

३) अगर किसी का बच्चा परेशान है, बीमार है, बुरी नजर से पीड़ित है तब प्रतिदिन दोनों वक्त हनुमान चालीसा का पाठ करें सात-सात वार और अपने बाएं पैर के अंगूठे से सिंदूर का तिलक लगाएं संबंधित बच्चे को।

४) “ओम् ऐं ह्वीं क्लीं चामुंडाए विच्चे”। गुप्त नवरात्रा के तांत्रिक उपाय का यह मंत्र अपनाने के लिए सबसे पहले आप एक आसन बिछाकर उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठ जाए। लकड़ी की एक चौकी अपने सामने रखे। इसके ऊपर लाल रंग का कपड़ा बिछा दे और देवी मां की मूर्ति अथवा तस्वीर को स्थापित करे। अब एक दीपक लेकर इसमें घी डालें तथा जला दे। मां को सिंदूर, लाल फूल और धूप अर्पण करे, भोग लगाए। अब दिए गए मंत्र का जाप करें १०८ बार। जाप समाप्ति के बाद अपनी मनोकामना की पूर्ति हेतु मां से प्रार्थना करे। इस टोटके को आप नवरात्रा में सुबह और शाम दोनों वक्त करे।

५) गुप्त नवरात्रि के समय अपनी पूजा स्थल में शिव-पार्वती के चित्र को स्थान दे। प्रतिदिन उनकी पूजा करे, धूप-दीप अर्पण करे। तत्पश्चात नीचे दिए गए मंत्र से तीन, पाँच अथवा दस माला का जाप करे। जाप समाप्ति के बाद भगवान भोलेनाथ से प्रार्थना करें कि विवाह में आने वाली सारी बाधाएं दूर हो जाए। गुप्त नवरात्रि में किया गया यह  तांत्रिक उपाय टोटका किसी के विवाह को शीघ्र कराने में सहायक है। मंत्र है-

“ॐ शं शंकरायसकल-जन्मार्जित-पाप-विध्वंसवाय,     पुरुषार्थ-चतुष्टय-लाभाय च पर्ति मे देहि कुरु कुरु स्वाहा।।”

६) “श्रीं ह्वीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः।।” घर की बरकत को बढ़ाने के लिए गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय में यह उपाय आप अपना सकते हैं। इन दिनों के कोई भी दिन में आप ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नानोपरांत शुद्ध एवं साफ वस्त्र धारण करें। अब आसन पर बैठकर अपने सामने मोती शंख को लकड़ी की चौकी के ऊपर स्थापित करे। इसके ऊपर केसर के पेस्ट से स्वास्तिक का चिन्ह अंकित करे। अब स्फटिक की माला से उपरोक्त मंत्र का एक माला जाप करे। हर मंत्र के बाद एक साबुन चावल का दाना डालें शंख में। इस प्रयोग को लगातार नौ दिनों तक करे और प्रतिदिन के एकत्रित चावल को एक छोटी सी थैली जो सफेद रंग की कपड़े से बनी हुई हो, में रखे। अब अंतिम दिन शंख को भी इस के साथ थैली के अंदर रख दे और इस थैली को अपनी तिजोरी में रखे।

७) गुप्त नवरात्रा के कोई भी दिन दिन ब्रह्म मुहूर्त में पवित्र होकर एक पीले रंग का आसन बिछाकर उसके ऊपर बैठ जाए और अपना मुख उत्तर की ओर रखे। अब तेल के नौ दीपक जला ले अपने सामने। चावल को लाल रंग से रंग दे। इन चावलों की ढ़ेरी बना दे दीपक के सामने। इसके ऊपर श्रीयंत्र रखे। श्रीयंत्र को पूजे पुष्प, कुमकुम, धूप और दीप से। अब एक प्लेट लेकर उसके ऊपर स्वास्तिक का चिन्ह अंकित कर उसकी भी धूप, दीप, फूल से पूजा करे। तत्पश्चात श्री यंत्र को उठाकर अपने पूजा स्थान पर स्थापित कर दे और शेष बची हुई सामग्री को नदी में प्रवाहित करे। गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय का यह उपाय धन लाभ में आई हुई बाधा को दूर करता है।

८) गुप्त नवरात्रा में पड़ने वाले शनिवार के दिन आप इस तांत्रिक उपाय को अपनाए, अगर किसी को बुरी नजर लग गई है तो। इस दिन एक निंबू ले और सम्बंधित व्यक्ति के सिर से पैर तक इसे सात बार घुमाए। अब इस के चार टुकड़े करके किसी चौराहे पर चारों तरफ फेंक दे। घर वापस आकर अच्छी तरह से हाथ धो ले और आते वक्त पीछे मुड़कर ना देखे।

९) अगर किसी के घर में या व्यापार या दुकान में बरकत ना हो रही हो तो नवरात्रा में पड़ने वाले शनिवार के दिन शाम के वक्त एक निंबू ले, इसे अपने घर/दुकान/दफ्तर के चारों दीवारों में स्पर्श करा इसके चार टुकड़े करे और किसी चौराहे पर चारों दिशाओं में एक-एक टुकड़ा उछाल कर घर वापस आ जाए तथा पीछे मुड़ के ना देखे वापस आते वक्त।

१०) “ओम् जयंती मंगला काली, भद्रकाली कपालिनी, दुर्गा श्यामा, शिवा धात्री, स्वाहा स्वधा नमोस्तुते”। देवी की पूजा अर्चना कर इस मंत्र का जाप करें १०८ बार। गुप्त नवरात्रि का यह तांत्रिक उपाय नौं दिनों तक प्रतिदिन करने से व्यक्ति की बीमारी दूर होती है तथा वह और उसका परिवार स्वास्थ्य धन को प्राप्त करता है।

११) नौं दिनों तक प्रतिदिन १०८ पीपल के पत्ते पर भगवान राम का नाम अंकित करें और इन्हें हनुमान जी के मंदिर में अर्पित कर दे। यह उपाय किसी की भी आर्थिक स्थिति को सुधारने में मददगार सिद्ध होगा।

कोई भी साधक जाने कैसे किये जाते है गुप्त नवरात्रि के तांत्रिक उपाय टोटके साधना द्वारा कोई भी किसी भी कार्य को सफल बना सकता है| गुप्त नवरात्रि पर होने वाली तांत्रिक प्रयोग से सभी प्रकार समस्या से निजात पाई जा सकती है और हर प्रकार के कार्य की सिद्धि प्राप्त कर सकता है| गुप्त नवरात्रि के दिनों कोई भी साधक तांत्रिक गुरु जी सलाह लेकर अपने सरे अधूरे कार्य को पूर्ण कर सकता है|